Home » Dharam Karam » पहाडों की गहराई में यहां रखा है लंबोदर का कटा हुआ सिर
loading...

पहाडों की गहराई में यहां रखा है लंबोदर का कटा हुआ सिर

पिथौरागढ़ में स्थित पाताल भुवनेश्वर गुफा पहाड़ी के करीब 90 फीट अंदर है। यह उत्तराखंड के कुमाऊं में अल्मोड़ा से शेराघाट होते हुए 160 किमी की दूरी तय करके पहाड़ी के बीच बसे गंगोलीहाट कस्बे में है।पाताल भुवनेश्वर गुफा में भगवान गणेश की ‍‍शिलारूपी मूर्ति के ठीक ऊपर 108 पंखुड़ियों वाला शवाष्टक दल ब्रह्मकमल सुशोभित है।

इससे ब्रह्मकमल से पानी भगवान गणेश के शिलारूपी मस्तक पर दिव्य बूंद टपकती है।मुख्य बूंद आदिगणेश के मुख में गिरती हुई दिखाई देती है।

मान्यता है कि यह ब्रह्मकमल भगवान शिव ने ही यहां स्थापित किया था। स्कंदपुराण में वर्णन है कि स्वयं महादेव शिव पाताल भुवनेश्वर में विराजमान रहते हैं और अन्य देवी.देवता उनकी स्तुति करने यहां आते हैं।

यह भी बताया गया है कि त्रेता युग में अयोध्या के सूर्यवंशी राजा ऋतुपर्ण जब एक जंगली हिरण का पीछा करते हुए इस गुफा में आ गए थे तो उन्होंने इस गुफा के अंदर महादेव शिव सहित 33 कोटि देवताओं के साक्षात दर्शन किए थे।

Check Also

doklam issue

Doklam मुद्दे पर भारत और Modi की बहुत बड़ी जीत, China Army पीछे हटी |

28 August 2017 : चीन जो पहले इस बात पर अड़ा था की वो पीछे नहीं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...