Home » Health & Fitness » …तो ‘ये’ है रोने के पीछे का सही कारण
loading...

…तो ‘ये’ है रोने के पीछे का सही कारण

नई दिल्ली। अक्सर जब भी हम तनाव में होते है, अकेलापन महसूस करते है तो आंखों से आंसू निकल आते है। सामान्यत महिलाएं जल्दी रो देती है जबकि पुरूष कम रोते हुए दिखाई देते है। आपको बतादें इसके पीछे का कारण है कि पुरूषों के शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन पाया जाता है जो आंसू को रोकने का काम करता है जबकि महिलाओं के शरीर में प्रोलैक्टिन नामक हार्मोन्स पाया जाता है। इसके चलते महिलाएं जल्द रो पड़ती है।

मैमोरी बढ़ानी है तो करें सिर्फ एक काम, जानिए क्या?

लेकिन क्या आप जानते है जिस तरह हंसना शरीर के लाभदायक माना जाता है उसी तरह रोना भी कई बीमारियों का इलाज है। रोकर कई बीमारियों का इलाज किया जा सकता है। रोने से सिर दर्द, जुकाम, चक्कर आना आदि कई समस्याओं से निजात पायी जा सकती है।

क्या आप जानते है पानी पीने का सही तरीका?

एक मनोचिकित्सक के अनुसार, अमेरिका में पुरूषों की अपेक्षा महिलाएं अधिक रोकर अपनी आयु में वृद्धि कर लेती है जबकि पुरूष अनेक प्राब्लम्स से घिरे रहते है। जोर से रोने से व्यक्ति के मन में दबी भावनाओं का तनाव दूर हो जाता है। इससे वह राहत महसूस करता है। कुछ डॉक्टर्स का कहना है कि आंसू उदासी और गुस्सा भी खत्म करते है। ऐसे में जब कभी भी रोना आए तो उसे रोकना नहीं चाहिए। आंसू रोकना शरीर के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

गोरिल्ला को मारकर बचाई मासूम बच्चे की जान, वीडियो वायरल

Check Also

kela

औरतों की इस समस्या का रामबाण इलाज है ये फूल

दक्षिण भारत में केले के फूल की सब्जियां बड़े चाव से खाई जाती है। इसमें …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...