Home » Love & Relationship » लव मैरिज के बाद पत्नी से की ऐसी जिद, सुनकर खड़े हो जाएंगे रोंगटे
loading...

लव मैरिज के बाद पत्नी से की ऐसी जिद, सुनकर खड़े हो जाएंगे रोंगटे

इंदौर। कहते हैं कि प्यार अंधा होता है प्रेमी से पति बने युवक ने अपनी पत्नी पर जिस प्रकार के कहर बरसाए उससे ये बात सही लगने लगती है। उसने ना सिर्फ उसे परेशान किया, बल्कि ऐसी जिद की जिसे सुनकर किसी के भी रोंगटे खड़े हो जाएं…कहानी की शुरुआत लगभग 4 साल पहले मालवा इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से शुरू हुई थी। पीड़िता और आरोपी पति दोनों इसी कॉलेज से इंजीनियरिंग कर रहे थे। आरोपी पति पर्व वार्ष्णेय पीड़ित पत्नी परी से एक साल सीनियर था। दोनों की दोस्ती धीरे-धीरे प्यार में बदली और डिग्री पूरी करने के बाद दोनों ने आर्यसमाज मंदिर में 15 मई 2016 को शादी कर ली।

शादी के महज चार दिन बाद ही पर्व ने परी पर उसके नाम का टैटू कलाई पर गुदवाने का दबाव डाला। मना करने पर पर्व ने प्यार का वास्ता देकर परी को राजी कर लिया। इसके अगले दिन पर्व ने सारी हदें पार करते हुए परी से अपने प्राइवेट पार्ट्स पर उसके नाम का टैटू गुदवाने की जिद की। परी के इनकार करने पर उसे आधुनिकता और प्यार का वास्ता दिया। नहीं मानने पर उसे जमकर पीटा और उसके गले पर जबरदस्ती अपनी डेट ऑफ बर्थ 8 जून गुदवा दी। गले पर स्वेलिंग आने से परी को खाने-पीने में तकलीफ होने लगी।

बेटे का साथ
उसने जब सास इंदू और ससुर गिरीश वार्ष्णेय को इस बारे में बताया तो उन्होंने भी बेटे का साथ देते हुए न केवल परी से मारपीट की बल्कि उसे एमआईजी स्थित उसके मायके यह कहते हुए छोड़ आए कि अगर पर्व के साथ रहना है तो 50 लाख रुपए लेकर आओ। मायके में रहने के दौरान पर्व लगभग रोज परी से मिलने जाता था और उसके माता-पिता की अनुपस्थिति में उससे मारपीट करता था। इसके अलावा रोज परी को अश्लील मैसेज भेजकर मानसिक रूप से भी परेशान करता था।

कोशिश बेकार
परेशान परी ने जब पर्व से समझौता कर उसके साथ रहने की बात कही तो पर्व ने दिल्ली में रहने वाली बहन आस्था को बात करने के लिए बुलवाया। आस्था ने अपने भाई को समझाने की जगह परी के मुंह पर 40 हजार रुपए फेंकते हुए कहा कि तुझे नहीं रखना, ले मेरे भाई के साथ 4 रात गुजारने की कीमत ले ले। पीड़िता परी पति पर्व वार्ष्णेय की शिकायत पर जिला न्यायालय ने स्वत: संज्ञान लेते हुए आरोपी पति, ससुर-सास और ननद के खिलाफ घरेलू हिंसा अधिनियम के तहत केस दर्ज किया है।

परी ने महिला थाने में शिकायत की, जहां से उसे पारिवारिक मामले को आपसी सहमति से सुलझाने की बात कहते हुए कायमी नहीं की गई। इसके बाद परी ने वकील कृष्ण कुमार कुन्हारे, काशु महंत अौर ईश्वर प्रजापति के जरिए इंदौर जिला न्यायालय में याचिका दायर की।  रिपोर्ट के आधार पर न्यायालय ने स्वयं घरेलू हिंसा अधिनियम के तहत केस दर्ज करते हुए सभी आरोपियों को 27 दिसंबर को कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया है।

Check Also

shaadi ke side effects

अच्छा होता के ये शादी ही नहीं करता…

वीडियो आखिर तक देखें …  

loading...